अन्न को नहीं तरसे अन्नदाता...अमरीका ने दिए 30 अरब डॉलर


जस्ट टुडे
शिकागो.जिनेवा। विश्व व्यापार संगठन की ओर प्रकाशित दस्तावेज में यह खुलासा किया गया है कि अमरीका ने व्यापार संकटों से प्रभावित अपने किसानों को सहायता देने के लिए अतिरिक्त 30 अरब डॉलर की राशि उपलब्ध कराई है। कनाडा ने अमरीका से इस मामले में जवाब मांगा है। कनाडा ने अमरीका सेे इतनी बड़ी राशि किसानों को उपलब्ध कराने का पूरा ब्यौरा मांगा है। कनाडा का कहना है कि अमरीका आखिर ऐसे कैसे कर सकता है। ज्ञात हो कि अमरीका और उसके शीर्ष निर्यात बाजारों के बीच व्यापार तनाव बढऩे की खबरें आती ही रहती हैं। अभी ट्रम्प प्रशासन ने कनाडा, मेक्सिको और यूरोपीय संघ से एल्युमिनियम और इस्पात आयात पर शुल्क लगा दिया था, इस पर इन देशों ने कड़ी आपत्ति व्यक्त की थी।


कनाडा ने बताया नियमों का उल्लंघन



कनाडा के ये सवाल विश्व व्यापार संगठन में संभावित परेशानी की ओर भी इशारा करते हैं। कनाडा का कहना है कि अमरीका के इस नए विवाद ने नियमों का उल्लंघन किया है। कनाडा की मांग है कि वह यह जानना चाहता है कि आखिर व्हाइट हाउस उन किसानों की रक्षा के लिए क्या कदम उठा सकता है, जिन्होंने डोनाल्ड ट्रम्प को अमरीकी राष्ट्रपति बनने में मदद की। कनाडा ने अपना यह अनुरोध विश्व व्यापार संगठन के यहां प्रस्तुत किया। यहां पर वार्ताकार एक-दूसरे के कृषि सहायता कार्यक्रमों की जांच करने और अपने प्रतिद्वंद्वियों की ओर से आकर्षक खर्च को चुनौती देने के लिए कई बार मिलते हैं।


अमरीका की सीसीसी फण्ड पर नजर


कनाडा ने अपने इस सवाल के जरिए अमरीका से वर्ष 2018 के यू.एस. बिपार्टिसन बजट अधिनियम की व्याख्या करने के लिए कहा। इसमें कांग्रेस ने कमोडिटी क्रेडिट कॉर्पोरेशन 
(सीसीसी) फण्डों का उपयोग करने के लिए अमरीकी कृषि सचिव के अधिकार पर कुछ प्रतिबंध हटा दिए।मक्का, सोयाबीन, गेहूं और अन्य कृषि वस्तुओं की कीमतें कम होने पर सीसीसी के पास यू.एस. उत्पादकों को ऋण और प्रत्यक्ष भुगतान करने का व्यापक अधिकार है। मीडिया रिपोर्टों की मानें तो व्हाइट हाउस चीन या अन्य के साथ व्यापार युद्ध में कृषि आय घाटे को खत्म करने के लिए सीसीसी फण्डों का उपयोग करने के तरीकों की तलाश में है। कनाडा का कहना है कि उनका मानना है कि सीसीसी किसी भी समय खजाना विभाग से .30 बिलियन तक उधार ले सकती है, जिससे कृषि आय को ऋण, खरीद, भुगतान और अन्य परिचालनों के जरिए किसानों की सहायता करने के लिए कृषि आय को स्थिर किया जा सके।


...तो फिर तनातनी संभव


कनाडा का कहना है कि क्या अमरीका सीसीसी फण्डों का उपयोग करने के लिए यूएसडीए के अधिकार पर प्रतिबंध उठाने का तर्क प्रदान कर सकता है और उन कार्यक्रमों का नाम दे सकता है, जो इन नए फण्डों के लिए योग्य होंगे। कनाडा यह भी जानना चाहता है कि क्या अमरीका घरेलू सरप्लस मसलन: डेयरी उत्पादों, मक्का और सोयाबीन खरीदने के लिए सीसीसी फण्ड का उपयोग कर सकता है। विशेषज्ञों का कहना है कि कनाडा के इन सवालों से फिलहाल कोई विवाद पैदा नहीं हो रहा है। लेकिन, विश्व व्यापार संगठन के सवाल हमेशा टकराव पैदा करते हैं। अमरीका की ओर से कोई संतोषजनक उत्तर नहीं दिया जाता है तो फिर दोनों देशों में तनाव बढ़ सकता है।


Popular posts from this blog

सांगानेर सिंधी पंचायत और सिंधी ब्रह्म खत्री ने त्रिलोक महाराज को हटाया

व्यापार महासंघ, सांगानेर के पूर्व पदाधिकारियों की मीटिंग से जन्मा नया विवाद, एक पदाधिकारी ने चुनाव पर सहमति होना बताया तो दूसरों ने किया इससे इनकार

सांगानेर बाजार में पटाखे की चिंगारी कहर बनकर टूटी