अब सांगानेर में भी कॉलेज

खुशखबर: सांगानेर वासियों की वर्षों पुरानी मांग पूरी, इसी सत्र से शुरू होगा कॉलेज

जस्ट टुडे
सांगानेर। सांगानेर के लोगों की वर्षों पुरानी आस अब पूरी हो गई है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने अपनी घोषणा के मुताबिक सांगानेर में कॉलेज खोलने की हरी झण्डी दे दी है। इस सम्बंध में कॉलेज शिक्षा आयुक्तालय की तरफ से इस सम्बंध में आदेश जारी कर दिए गए हैं। राज्य सरकार ने प्रशासनिक एवं वित्तीय स्वीकृति भी जारी कर दी है। यह कॉलेज इसी शैक्षिक सत्र 2020-21 से ही शुरू होगा। इससे सांगानेर में ना केवल शिक्षा का स्तर बढ़ेगा बल्कि रोजगार की संभावनाएं भी बढ़ेंगी।

यह है आदेश
राज्य सरकार के आदेश के मुताबिक सांगानेर में नए कॉलेज खोलने के लिए कुल 21 पद सृजन करने के आदेश दे दिए गए हैं। इनमें प्राचर्य के अलावा सात सहायक प्राचार्य, पुस्तकालयध्यक्ष, शारीरिक शिक्षक, सहायक लेखाधिकारी-1, सहायक प्रशासनिक अधिकारी, आशुलिपिक, वरिष्ठ सहायक, कनिष्ठ सहायक, प्रयोगशाला सहायक, प्रयोगशाला वाहक, बुक लिफ्टर और चतुर्थ श्रेणी के एक-एक पदों पर कर्मचारी नियुक्त करने के आदेश जारी कर दिए हैं। इस कॉलेज को इसी शिक्षा सत्र 2020-21 से शुरू करने को कहा है।

यह थी परेशानी
अभी सांगानेर सहित आस-पास के 15 किलोमीटर के क्षेत्रों में कॉलेज नहीं है। ऐसे में बारहवीं के बाद पढ़ाई जारी रखने में विद्यार्थियों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। क्योंकि, कॉलेज पढ़ाई के लिए जयपुर जाना पड़ रहा था। ऐसे में बारहवीं के बाद लड़कियां पढ़ाई छोडऩे को मजबूर थीं। क्योंकि, उनके परिजन उन्हें ज्यादा दूर कॉलेज पढऩे नहीं जाने देते। कॉलेज दूर होने के चलते कई परिजन तो लड़कों को भी प्राइवेट ग्रेजुएशन करवाने को मजबूर थे।

यह होगा फायदा
सांगानेर में कॉलेज खुलने से इसके आस-पास के 15 किलोमीटर के क्षेत्र के विद्यार्थियों को इसका फायदा मिलेगा। अब परिजन भी लड़कियों को कॉलेज भेजने में हिचकिचाएंगे नहीं। वाटिका, मुहाना सहित आस-पास के क्षेत्रों के विद्यार्थी अब आराम से उच्च शिक्षा प्राप्त कर सकेंगे।

इन पर अब भी संशय
राज्य सरकार की ओर से जारी आदेश में यह नहीं बताया गया है कि सांगानेर में कॉलेज कहां खुलेगा। साथ ही यह भी नहीं बताया गया है कि कॉलेज में लड़के-लड़कियां दोनों साथ पढ़ेंगे या फिर सिर्फ लड़कों या लड़कियों का ही कॉलेज होगा।
 
यह है संभावना
चूंकि, इसी शैक्षिक सत्र से सांगानेर में कॉलेज शुरू हो रहा है, ऐसे में इतनी जल्दी तो नई इमारत बनना संभव नहीं है। ऐसे में यह संभावना है कि फिलहाल इसे शिकारपुरा रोड स्थित लड़कों या फिर लड़कियों के स्कूल से ही शुरू किया जा सकता है। 



आज सांगानेर वासियों के दिल की इच्छा पूरी हो गई है। काफी समय से सांगानेर के लोग कॉलेज खोलने की मांग कर रहे थे। कॉलेज खुलने से सर्वाधिक फायदा लड़कियों को होगा, क्योंकि, उच्च अध्ययन के लिए कॉलेज नहीं होने से वे पढ़ाई बीच में ही छोड़ रही थीं। हम मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का तहेदिल से आभार व्यक्त करते हैं।
- पुरुषोत्तम नागर, समाज सेवी


Popular posts from this blog

सांगानेर सिंधी पंचायत और सिंधी ब्रह्म खत्री ने त्रिलोक महाराज को हटाया

व्यापार महासंघ, सांगानेर के पूर्व पदाधिकारियों की मीटिंग से जन्मा नया विवाद, एक पदाधिकारी ने चुनाव पर सहमति होना बताया तो दूसरों ने किया इससे इनकार

सांगानेर में नया अध्यक्ष चुनने आज एक जाजम पर बैठेंगे व्यापारी