अब घरेलू पर्यटकों से कमाई...घाटे की होगी भरपाई

लॉकडाउन हटने के बाद अंतरराष्ट्रीय यात्रियों में कमी से होने वाले घाटे की पूर्ति के लिए बनाई नई योजना 



जस्ट टुडे
जयपुर। कोरोना संकट के बाद आर्थिक मंदी की मार से बचने के लिए पर्यटन विभाग ने अभी से कार्ययोजना बनाना शुरू कर दिया है। विभाग का अब फोकस घरेलू पर्यटन को बढ़ावा देने पर रहेगा। क्योंकि, आर्थिक मंदी की वजह से अंतरराष्ट्रीय यात्रियों की कमी होगी। ऐसे में पर्यटन जगत को इस नुकसान से उबारने के लिए राजस्थान पर्यटन अब घरेलू पर्यटकों पर ही ध्यान देगा। पर्यटन मंत्री विश्वेन्द्र सिंह ने बताया कि पर्यटकों को यह विश्वास दिलाना होगा कि सभी होटलों सहित अन्य जगहों पर स्वच्छता मानकों का भरपूर इस्तेमाल किया जा रहा है, जिससे पर्यटकों की संख्या में इजाफा हो। पर्यटन मंत्री बुधवार को महाराष्ट्र सरकार के पर्यटन मंत्री आदित्य ठाकरे के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से संवाद कर रहे थे। 


दोनों राज्यों के कई अधिकारी भी हुए शामिल


कॉन्फ्रेंस कॉल के दौरान दोनों राज्यों के पर्यटन विभाग से जुड़े अधिकारी भी शामिल हुए, जिसमें पर्यटन विभाग की प्रमुख शासन सचिव श्रेया गुहाय पर्यटन निदेशक, डॉ.भंवर लाल  पर्यटन विभाग से सेवानिवृत्त संयुक्त निदेशक, तृप्ति पांडे और नागरिक सलाहकार, डॉ. एडवर्ड डिकिन्सन एवं डॉ. रश्मि डिकिन्सन शामिल थे। वहीं महाराष्ट्र की पर्यटन राज्य मंत्री, अदिति तटकरे और प्रमुख शासन सचिव पर्यटन एवं संस्कृति, वालसा नायर सिंह शामिल थे। 


पर्यटन उद्योग के पुनरुत्थान पर हुई चर्चा


कोरोना संकट के बाद पर्यटन उद्योग के पुनरुत्थान योजना पर चर्चा की गई। दोनों राज्य पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए अल्पावधि उपायों पर ध्यान केंद्रित करेंगे। दोनों राज्य आगामी हफ्तों में दिशा-निर्देशों तय करने और इन्हे बेहतर बनाने को लेकर केंद्र सरकार और संबंधित स्वास्थ्य विभागों के साथ चर्चा करेंगे।


Popular posts from this blog

सांगानेर में 13 ने लिया नाम वापस, अब 37 प्रत्याशी मैदान में 

सांगानेर से फिर एक बार पुष्पेन्द्र भारद्वाज

ग्रेटर चेयरमैन अरुण शर्मा बने ‘डायनेमिक पार्षद’