सांगानेर सिंधी पंचायत और सिंधी ब्रह्म खत्री ने त्रिलोक महाराज को हटाया

- समाज बंधुओं के धार्मिक कार्यों को निपटाने के लिए नियुक्त किए पांच पंडित

जस्ट टुडे
जयपुर।
सांगानेर स्थित पूज्य सिन्धी पंचायत और पूज्य सिन्धी ब्रह्म खत्री पंचायत ने बड़ा फैसला लिया है। दोनों ही पंचायतों ने सर्वसम्मति से त्रिलोक महाराज को पदच्युत कर उनका बहिष्कार कर दिया है। दोनों पंचायतों के मुताबिक त्रिलोक महाराज की समाज के लोगों की ओर से लगातार शिकायतें आ रही थीं। इनमें पूजा-अर्चना के दौरान समाज के लोगों से मनमाफिक पैसे लेते थे। वहीं अभ्रदता से भी बात करते थे।       


पूज्य सिंधी पंचायत के अध्यक्ष उत्तम बच्चानी ने बताया कि अभी हाल ही में त्रिलोक महाराज की चाची का देहांत हो गया था। इसके बाद भी सूतक ना मानते हुए लोगों के मांगलिक कार्य करवाए गए। इसकी शिकायत भी समाज के लोगों ने दोनों पंचायतों से की। इसके बाद दोनों पंचायतों ने उन्हें वार्ता के लिए बुलाया, जहां महाराज ने गाली-गलौज और अपशब्दों का प्रयोग किया। इसकी रिकॉर्डिंग पंचायत के पास उपलब्ध है। इसके बाद दोनों पंचायतों ने त्रिलोक महाराज का बहिष्कार कर दिया। 

दोनों संस्थाओं ने इन पंडितों को किया नियुक्त 

साथ ही पूजा-पाठ सहित अन्य धार्मिक कार्यों में कोई व्यवधान नहीं आए, इसके लिए दोनों पंचायतों ने सर्वसम्मति से 5 पंडितों को नियुक्त किया है। अब समाज के कार्य पं. मनोज शर्मा, पं. महेश शर्मा, पं. शिवम शर्मा, सोनू महाराज और ललित महाराज पूरे कराएंगे। साथ ही दोनों पंचायतों ने समाज बंधुओं से अपील की है कि यदि त्रिलोक महाराज से किसी ने भी कोई कर्मकांड करवाया तो दोनों संस्थाएं किसी भी तरह की जिम्मेदार नहीं रहेंगी। 

Popular posts from this blog

केन्द्र सरकार से पैसा अटका, सीईटीपी प्लांट तीन साल से लटका...अब प्रदूषण मंडल ने कोर्ट से दिया झटका

व्यापार महासंघ, सांगानेर के पूर्व पदाधिकारियों की मीटिंग से जन्मा नया विवाद, एक पदाधिकारी ने चुनाव पर सहमति होना बताया तो दूसरों ने किया इससे इनकार