मेयर मामले में गमाई सियासत, अब सड़क पर संघर्ष करेगी भाजपा

- ग्रेटर नगर-निगम महापौर सौम्या गुर्जर और तीन पार्षदों के निलम्बन मामले में गमाई सियासत

- भाजपा की ओर से सोमवार शाम निगम के 250 वार्डों में दिया जाएगा धरना,  मंगलवार को सभी शहरों में मण्डल स्तर पर विरोध-प्रदर्शन किए जाएंगे

जस्ट टुडे
जयपुर।
ग्रेटर नगर निगम आयुक्त यज्ञ मित्र सिंह से हाथापाई मामले में राज्य सरकार की ओर से मेयर सौम्या गुर्जर और तीन पार्षदों के किए निलम्बन पर अब सियासी घमासान मच गया है। समस्त भाजपा कार्यकर्ताओं ने एकजुट होकर इस मामले में कांग्रेस सरकार को घेरने का फैसला किया है। प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया ने मेयर सौम्या गुर्जर और पार्षदों के निलम्बन के खिलाफ सोमवार शाम 5 बजे से जयपुर के सभी 250 वार्डों में कोविड गाइडलाइन की पालना करते हुए धरना-प्रदर्शन करने की घोषणा की है। वहीं मंगलवार से सभी शहरों में मण्डल स्तर पर विरोध-प्रदर्शन किए जाएंगे। अब तक खेमों में बंटी भाजपा इस मामले में एकजुट हो गई है। भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया, उपनेता प्रतिपक्ष राजेन्द्र राठौड़, पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे सहित कई नेताओं ने मेयर-पार्षदों के निलम्बर को लेकर सरकार पर निशाना साधा है। 

हिटलरशाही पर उतर आई है गहलोत सरकार


जयपुर ग्रेटर में कांग्रेस को हार का इतना मलाल था कि शुरू से ही षड्यंत्र रच रही थी। सरकार कभी बजट के मामले में तो कभी कमेटियों के मामले में भेदभाव कर रही थी। निलंबन की कार्यवाही तानाशाहीपूर्ण है, गहलोत सरकार हिटलरशाही पर उतर आई है। गैंगरेप की घटनाओं में अपराधी पकड़े नहीं जा रहे, लेकिन यहां सामान्य वाद-विवाद को आपराधिक मुकदमे में बदल दिया। इस तरह की घटना में बिना सुनवाई निलम्बन करना सरकार की बड़ी भूल है। सरकार राजनीतिक चश्मे से स्थानीय निकायों में दुर्भावना से कार्यवाही कर रही है।
- सतीश पूनिया, भाजपा प्रदेशाध्यक्ष

निलंबन बताया निंदनीय


पूर्व सीएम वसुंधरा राजे ने ट्वीट करके मेयर और पार्षदों के निंलबन की कार्यवाही पर सवाल उठाए। राजे ने लिखा, लोकतांत्रिक तरीके से चुन कर आई जयपुर ग्रेटर नगर निगम की महापौर का निलंबन निंदनीय है।
- वसुंधरा राजे, पूर्व मुख्यमंत्री

सत्ता के नशे में दिख रही है कांग्रेस


सत्ता का दुरुपयोग कर लोकतंत्र का गला घोंटा जा रहा है। सत्ता के नशे में दिख रही है कांग्रेस पार्टी, चुने हुए जनप्रतिनिधियों के साथ ऐसा बर्ताव जनादेश का अपमान,भाजपा कभी भी ये बर्दाश्त नहीं करेगी। इसका जोर शोर से विरोध किया जाएगा एक पक्ष को सुनकर कार्यवाही करना गलत है। - गुलाबचंद कटारिया, नेता प्रतिपक्ष


गहलोत ने की लोकतंत्र की हत्या


पिछले साल गहलोत साहब लोकतंत्र को बचाने की दुहाई दे रहे थे, और आज उसी लोकतंत्र की हत्या भी कर दी। जयपुर ग्रेटर महापौर और पार्षदों का निलम्बन कांग्रेस का फासीवाद है। राजस्थान इस फासीवाद को पनपने नहीं देगा। - गजेन्द्र सिंह शेखावत, केन्द्रीय मंत्री


दमन का मुंहतोड़ जवाब देगी बीजेपी


कांग्रेस सरकार लोकतंत्र की परिभाषा बदलने की कोशिश कर रही है। इस दमनात्मक कार्यवाही का भाजपा की ओर से मुंहतोड़ जवाब दिया जाएगा। राजस्थान नगरपालिका अधिनियम 2009 की धारा 39 (6) में प्रदत्त शक्तियों का दुरुपयोग कर आरोप पत्र जारी करने से पहले ही निलम्बन का यह पहला मामला है। कांग्रेस सरकार लोकतंत्र की धुरी स्थानीय निकायों को समाप्त करने के लिए अबोध शस्त्र हाथ में ले रही है जो इन्हीं के लिए मारक सिद्ध होगा। - राजेन्द्र सिंह राठौड़, उपनेता प्रतिपक्ष

Popular posts from this blog

सांगानेर सिंधी पंचायत और सिंधी ब्रह्म खत्री ने त्रिलोक महाराज को हटाया

केन्द्र सरकार से पैसा अटका, सीईटीपी प्लांट तीन साल से लटका...अब प्रदूषण मंडल ने कोर्ट से दिया झटका

व्यापार महासंघ, सांगानेर के पूर्व पदाधिकारियों की मीटिंग से जन्मा नया विवाद, एक पदाधिकारी ने चुनाव पर सहमति होना बताया तो दूसरों ने किया इससे इनकार