भारद्वाज ने शुरू किया अभियान, स्पाइरोमीटर से आएगी सांस में 'सांस'

-छह युवा फिजियोथैरेपिस्ट सांगानेर में बांटेंगे स्पाइरोमीटर, कांग्रेस नेता भारद्वाज ने की अभियान की शुरुआत

- स्पाइरोमीटर सांस की बताता है क्षमता और फेफड़ों की बढ़ाता है क्षमता


जस्ट टुडे
जयपुर।
कोरोना संक्रमण काल में सांगानेर की जनता  की मदद करने के लिए समाज का हर वर्ग आगे आया। किसी ने ऑक्सीमीटर की व्यवस्था की तो किसी ने ऑक्सीजन सिलेण्डर की, किसी ने भोजन उपलब्ध कराया तो किसी ने दवा। यानी समाज के प्रत्येक वर्ग ने कोरोना काल में जरूरतमंदों की यथासंभव मदद की। अब सांगानेर के लोगों की ऐसी ही मदद करने का बीड़ा उठाया है कुछ युवा फिजियोथैरेपिस्ट ने। डॉ. अतुल सिंह, डॉ. आशुतोष शर्मा, डॉ. अजय शर्मा, डॉ. श्वेता बेलारमानी,डॉ. राज भावसार और डॉ. विष्णु शर्मा की ओर से सांगानेर में स्पाइरोमीटर बांटे जाएंगे। कांग्रेस नेता पुष्पेन्द्र भारद्वाज ने स्पाइरोमीटर बांटने के अभियान की शुरुआत की। इस दौरान युवा फिजियोथैरेपिस्ट ने भारद्वाज को कोरोना संक्रमण में स्पाइरोमीटर की महत्ता भी बताई। 

फेफड़ों को बनाता है मजबूत


दरअसल, विशेषज्ञों के मुताबिक कोरोना वायरस श्वसन प्रणाली पर आक्रमण कर टिशूज (ऊतक)को नुकसान पहुंचाता है। इससे सांस लेने में परेशानी शुरू हो जाती है। इसलिए संक्रमण से पहले और बाद में फेफड़ों को कम नुकसान पहुंचे, इसके लिए स्पाइरोमीटर अहम रोल निभाता है। स्पाइरोमीटर की मदद से सांस से जुड़ी एक्सरसाइज की जाती है। स्पाइरोमीटर के जरिए जब सांस से जुड़ी एक्सरसाइज की जाती है तो इसके अंदर मौजूद गेंदें या पिस्टन ऊपर उठते हैं। इन्हीं से उस व्यक्ति की सांस की मात्रा को मापा जाता है। इससे फेफड़े मजबूत होते हैं और सांस लेने में भी दिक्कत नहीं होती है। यानी स्पाइरोमीटर फेफड़ों को मजबूत बनाने का काम करता है। विशेषज्ञों की सलाह है कि इसका उपयोग दूसरों के सामने ना करें, इससे संक्रमण फैलने का खतरा रहता है। 

इन बीमारियों में है कारगर

विशेषज्ञों की मानें तो स्पाइरोमीटर निमोनिया, ब्रोंकाइटिस और कोविड-19 जैसी सांस सम्बंधी बीमारियों से उबरने में फायदेमंद रहता है। साथ ही सर्जरी या फेफड़ों की बीमारी के बाद फेफड़ों को ठीक करने में भी मदद करता है। स्पाइरोमीटर की मदद से सांस लेने और छोडऩे से फेफड़ों को सक्रिय रखने और तरल पदार्थ से मुक्त रखने में मदद मिलती है।

(डिस्क्लेमर: जस्ट टुडे में प्रकाशित यह लेख सिर्फ जानकारी के लिए है। स्पाइरोमीटर का उपयोग करने से पहले पेशेवर डॉक्टर की सलाह जरूर लें। )

Popular posts from this blog

सांगानेर सिंधी पंचायत और सिंधी ब्रह्म खत्री ने त्रिलोक महाराज को हटाया

केन्द्र सरकार से पैसा अटका, सीईटीपी प्लांट तीन साल से लटका...अब प्रदूषण मंडल ने कोर्ट से दिया झटका

व्यापार महासंघ, सांगानेर के पूर्व पदाधिकारियों की मीटिंग से जन्मा नया विवाद, एक पदाधिकारी ने चुनाव पर सहमति होना बताया तो दूसरों ने किया इससे इनकार