एक्सक्लूसिव: सांगानेर निगम ने बिना कोरोना टेस्ट किए बांटे 120 लाइसेंस

सांगानेर बाजार में शनिवार को 4 सुपर स्प्रेडर मिले कोरोना पॉजिटिव


सांगानेर नगर-निगम जोन कार्यालय ने बिना स्वास्थ्य परीक्षण किए ही हर वार्ड में 10 लोगों को दे दिया सब्जी बेचने का लाइसेंस 


तरकारी में कोरोना की सेंधमारी : जस्ट टुडे की तहकीकात

जस्ट टुडे
जयपुर। अभी तक जयपुर में सुप्रर स्प्रेडर सरकार के लिए चुनौती बने हुए थे। सरकार ने जैसे ही इनकी रैण्डम सैम्पलिंग शुरू कराई तो एक के बाद एक कोरोना पॉजिटिव मिलते गए। इन सुपर स्प्रेडर में सब्जीवाले, दुकानदार, दूध विक्रेता, फार्मासिस्ट और गैस सप्लायर आदि कई शामिल हैं। जयपुर की बात की जाए तो पिछले 9 दिनों में करीब 37 सुप्रर स्पे्रडर कोरोना पॉजिटिव मिल चुके हैं। इनमें 27 सब्जी वाले और शेष 10 दुकानदार हैं। शनिवार को सांगानेर मुख्य बाजार में मिले तीन सब्जी और एक फल विक्रेता भी इस आंकड़े में शामिल हैं। जस्ट टुडे ने 6 मई को 'ठेलों पर तरकारी...बनी महामारी...लगाम की तैयारी' शीर्षक से खबर प्रकाशित कर सुप्रर स्प्रेडर के खतरे से आगाह किया था। सांगानेर बाजार में शनिवार को चार नए सुपर स्प्रेडर मिलने के बाद खतरे का अंदाजा आसानी से लगाया जा सकता है। जस्ट टुडे का नैतिक कर्तव्य है कि कोरोना महामारी में वह ना केवल जनता को जागरूक करे बल्कि उन्हें खतरे से भी आगाह करता रहे। इसी कर्तव्य का पालन करती जस्ट टुडे की एक्सक्लूसिव ग्राउण्ड रिपोर्ट...।

सुपर स्प्रेडर इसलिए खतरनाक



फोटो प्रतीकात्मक

सांगानेर क्षेत्र स्थित राजस्थान की सबसे बड़ी फल और सब्जी मण्डी मुहाना में भी तीन दिन पहले दो सुपर स्प्रेडर कोरोना पॉजिटिव मिले थे। ये दोनों ही व्यक्ति सब्जी-फल विक्रेता थे। इससे पहले तक जयपुर में 20 सुपर स्प्रेडर भी कोरोना पॉजिटिव मिल चुके थे। इनमें करीब 13 व्यक्ति सब्जी विक्रेता थे। इन आंकड़ों के बाद सरकार तुरन्त हरकत में आई और पूरे जयपुर में सुपर स्प्रेडर की सैम्पलिंग कराने के निर्देश दिए। इसके बाद चिकित्सा विभाग की टीम ने अलग-अलग क्षेत्रों में सुपर स्प्रेडर की सैम्पलिंग करना शुरू किया। इसी के तहत सांगानेर बाजार में भी 2 मई को रैण्डम सैम्पलिंग हुई। शनिवार को आई जांच रिपोर्ट में 4 सुपर स्प्रेडर के कोरोना की पुष्टि हुई है। ये चारों ही सब्जी-फल विक्रेता हैं। इन सुपर स्प्रेडर से जाने-अनजाने में कितने ही लोगों ने सब्जी-फल खरीदें होंगे। ऐसे में आशंका यह भी उठती है कि इनसे कितने और लोगों तक कोरोना पहुंचा होगा। क्योंकि, इन लोगों को भी नहीं पता होता कि इन्होंने किन-किन लोगों को सामान बेचा। यानी तरकारी में कोरोना ने सेंधमारी कर दी है।

सांगानेर के 12 जोन में 120 लोगों को दिया लाइसेंस


विश्वसनीय सूत्रों के मुताबिक सांगानेर नगर-निगम जोन कार्यालय ने 12 वार्डों में करीब 120 लोगों को सब्जी बेचने का लाइसेंस दे दिया है। यानी प्रत्येक वार्ड में 10 सब्जी वाले। चिंता की बात यह है कि इन 120 सब्जी वालों का अभी तक कोरोना टेस्ट नहीं करवाया गया है। बिना कोरोना टेस्ट के ही इनको सब्जी बेचने का लाइसेंस दे दिया है। इन सभी को अनुमति-पत्र के साथ पीली टोपी भी दी गई है। वहीं जयपुर शहर की बात करें तो कुल 900 पास बांटे गए हैं। इनमें से भी किसी का स्वास्थ्य परीक्षण नहीं किया गया। चिंता का विषय यह है कि जब इनका टेस्ट ही नहीं किया गया तो इनको सब्जी बेचने का लाइसेंस किस आधार पर दिया गया। 

शहर में यहां से भी लिए टेस्ट


विद्याधर नगर, भट्टा बस्ती, शास्त्री नगर, ढहर का बालाजी, मुरलीपुरा, आदर्श नगर, राजापार्क, तिलक नगर, गलता गेट, रामगंज, जवाहर नगर, सिविल लाइंस, सोडाला, स्वेज फार्म, नंदपुरी और आमेर क्षेत्र में चिकित्सा टीम की ओर से सुपर स्प्रेडर की रैण्डम सैम्पलिंग ली गई। 


Popular posts from this blog

सांगानेर सिंधी पंचायत और सिंधी ब्रह्म खत्री ने त्रिलोक महाराज को हटाया

केन्द्र सरकार से पैसा अटका, सीईटीपी प्लांट तीन साल से लटका...अब प्रदूषण मंडल ने कोर्ट से दिया झटका

व्यापार महासंघ, सांगानेर के पूर्व पदाधिकारियों की मीटिंग से जन्मा नया विवाद, एक पदाधिकारी ने चुनाव पर सहमति होना बताया तो दूसरों ने किया इससे इनकार