सांगानेर विधायक लाहोटी का नया खुलासा, शहर में घूम रहे कोरोना बम


  • सांगानेर में जांच किट लेकर आया एक एम्बुलेंस ड्राइवर निकला कोरोना पॉजिटिव
    दो दिन में ना जाने कितने लोगों को किया होगा संक्रमित, सांगानेर के लोग भयभीत
    सीएमएचओ का स्टाफ जयपुर में फैला रहा कोरोना: लाहोटी


जस्ट टुडे
जयपुर। जयपुर में रोजाना बढ़ रहे कोरोना पॉजिटिव को लेकर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत पहले से ही चिंतित हैं, ऐसे में सांगानेर विधायक अशोक लाहोटी ने अपने सनसनीखेज खुलासों से उनकी नींद भी उड़ा दी है। तबलीगी जमातियों को खाने में पनीर और रसगुल्ले देने की बात हो या फिर मुख्यमंत्री गहलोत के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में रामगंज में ही क्वारेंटाइन सेन्टर बनाने की नसीहत की बात हो।



सांगानेर विधायक अशोक लाहोटी ने अपने सवालों के जरिए राज्य सरकार को कठघरे में खड़ा अवश्य कर दिया है। मंगलवार को सांगानेर विधायक लाहोटी ने एक और खुलासा करते हुए राज्य सरकार पर गंभीर आरोप लगाया है।


यह है मामला


दरअसल, सीएमएचओ जयपुर के यहां लगी हुई एम्बुलेंस का ड्राइवर कोरोना वायरस जांच किट लेकर सभी सीएचसी और पीएससी सेन्टर्स पर जाता है। दो दिन पहले यह ड्राइवर रामगंज में भी एम्बुलेंस को लेकर गया था। उस दौरान उसका सैम्पल टेस्ट करने के लिए भेजा गया था। उसकी मंगलवार को रिपोर्ट आई, जिसमें वह पॉजिटिव निकला। रिपोर्ट आने से पहले यह ड्राइवर मंगलवार को सांगानेर स्थित सीएचसी में भी जांच किट लेकर आया था। इसके साथ सांगानेर का ही एक मेडिकल स्टाफ भी था। यह ड्राइवर सांगानेर सीएचसी पर करीब दो घंटे रुके। इसी दौरान उस ड्राइवर की रिपोर्ट पॉजिटिव आने की सूचना मिली और उसे तुरन्त बुला लिया गया। इसके बाद सांगानेर मुख्य बाजार और सीएचसी क्षेत्र को सील कर दिया गया। एम्बुलेंस को सेनेटाइज किया गया। 


ड्राइवर के सम्पर्क में आए सभी लोगों की हो जांच

इस बारे में सांगानेर विधायक अशोक लाहोटी ने कहा कि एक तरफ देश के प्रधानमंत्री और राज्य के मुख्यमंत्री सहित जनता इस संकट से निपटने के लिए अपना सर्वस्व न्यौछावर कर रहे हैं। वहीं बार-बार सुझाव देने के बाद भी रामगंज को अभी तक सील नहीं किया गया है। उन्होंने कहा कि दो दिन में यह ड्राइवर तथा स्टाफ पता नहीं कितनी पीएचसी और सीएचसी में गया होगा। तुरन्त प्रभाव से उन सभी लोगों की जांच की जानी चाहिए। साथ ही इन सभी लोगों के परिजनों और उनके सम्पर्क में आए सभी लोगों की जांच की जानी चाहिए। जांच रिपोर्ट आने तक इन सभी लोगों को एहतियातन क्वारेंटाइन किया जाए।


वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में भी दे चुका हूं सुझाव

लाहोटी ने कहा कि मुख्यमंत्री के साथ वीसी में भी मैंने रामगंज को पूरी तरह सील करने को कहा था। रामगंज क्षेत्र से बाहर आने-जाने पर सम्पूर्ण प्रतिबंध लगाने का सुझाव दिया था। रामगंज में लगे हुए डॉक्टर, पैरामेडिकल स्टाफ, पुलिसकर्मी, सफाईकर्मी सहित अन्य सभी लोगों के लिए वहीं पर सेन्टर बनाया जाए। रामगंज का क्वारेंटाइन भी रामगंज में ही किया जाए। उन्होंने कहा कि ये सब गलतियां न्यूयॉर्क, इटली और स्पेन जैसे बड़े देशों में 
की गई थी, उसका परिणाम सभी के सामने है। लाहोटी ने कहा कि सांगानेर क्षेत्र में पहले भी 12 लोग दिल्ली से तबलीगी जमात के आए थे, लेकिन, पुलिस प्रशासन ने उनको चारों तरफ से पैक करके 20 दिन तक घर में ही रखा और पूरा क्षेत्र सुरक्षित कर पाए। उन्होंने आरोप लगाया कि इस तरह की प्रशासनिक लापरवाही से जयपुर को कोरोना की आग में धकेला जा रहा है।


प्रदेश की तस्वीर भयावह, 1000 पहुंचा आंकड़ा



प्रदेश में मंगलवार को कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 1000 को पार कर गया। प्रदेश में मंगलवार को 108 लोग कोरोना संक्रमित मिले। ऐसे में कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़कर 1005 हो गई है। 108 मिले नए संक्रमितों में से अकेले जयपुर में 83 संक्रमित मिले। इनमें भी जयपुर के रामगंज में सर्वाधिक 67 संक्रमित केस मिले। रामगंज की कोयला वाली गली, मेहरों का रास्ता, नायकों का मोहल्ला, जगन्नाथ शाह का रास्ता, न्यू मदीना मस्जिद, चार दरवाजा, सिलावटों का मोहल्ला में ये संक्रमित मिले। इसके अलावा एमडी रोड से 14, राजापार्क से 1 और खो नागोरियन से 1 कोरोना पॉजिटिव मिला। इन्हें मिलाकर अब जयपुर में कोरोना पॉजिटिव की संख्या 453 हो गई है। 


परकोटे के 13 ब्लॉकों में 321 पॉजिटिव


प्रमुख शासन सचिव ऊर्जा अजिताभ शर्मा ने मंगलवार को बताया कि चारदीवारी के 13 ब्लॉक ऐसे हैं, जिनमें 321 पॉजीटिव केस सामने आए हैं। पूरी मुस्तैदी के साथ इन क्षेत्रों में सघन सैम्पलिंग की जा रही है। इन एरिया को सील कर दिया गया है। ई-रिक्शा के माध्यम से सूखी राशन सामग्री का वितरण किया जा रहा है। 


Popular posts from this blog

सांगानेर सिंधी पंचायत और सिंधी ब्रह्म खत्री ने त्रिलोक महाराज को हटाया

केन्द्र सरकार से पैसा अटका, सीईटीपी प्लांट तीन साल से लटका...अब प्रदूषण मंडल ने कोर्ट से दिया झटका

व्यापार महासंघ, सांगानेर के पूर्व पदाधिकारियों की मीटिंग से जन्मा नया विवाद, एक पदाधिकारी ने चुनाव पर सहमति होना बताया तो दूसरों ने किया इससे इनकार